Menu Close

भारत का सबसे अमीर मंदिर कौन सा है | TOP 10 LIST

दुनिया के किसी भी देश में शायद ही उतने मंदिर होंगे जितने भारत में हैं और इसका मुख्य कारण आस्था है। अधिकांश भारतीय लोग हिंदूवादी हैं और अपने ईश्वर में गहरी आस्था रखते हैं। वह भगवान के लिए कुछ भी करने से नहीं कतराते। हिंदू विश्वासी अपने भगवान को प्रसन्न करने के लिए दान करते हैं और इसी दान के कारण आज कई ऐसे मंदिर बन गए हैं। जिसमें हर साल करोड़ों रुपये की पेशकश की जाती है। इस तरह ये मंदिर समृद्ध मंदिरों की श्रेणी में आते हैं। आइए आज जानते हैं की भारत का सबसे अमीर मंदिर कौन सा है और देश के टॉप 10 आमिर मंदिर कौन से है।

वैसे अगर आप सोच रहे हैं कि भारत में मंदिरों के देश में दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर होगा तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। जी हां, दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कंबोडिया देश में स्थित अंगकोर वाट यानी भगवान विष्णु का एक विशाल मंदिर है, जो 8 लाख 20 हजार वर्ग मीटर में फैला हुआ है। ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर का निर्माण 1112 ई. में राजा सूर्यवर्मन द्वितीय के शासनकाल में हुआ था।

भारत का सबसे अमीर मंदिर कौन सा है

पद्मनाभस्वामी मंदिर भारत का सबसे अमीर मंदिर है। जो केरल के प्रसिद्ध शहर तिरुवनंतपुरम में स्थित है। इसे भारत ही नहीं बल्कि दुनिया का सबसे अमीर मंदिर माना जाता है। लोगों का अनुमान है कि पद्मनाभस्वामी मंदिर के पास 1 ट्रिलियन डॉलर की संपत्ति है। हाल ही में जब मंदिर के अंदर के वाल्व को खोला गया तो ऐसा लग रहा था मानो हीरे-सोने-चांदी की बाढ़ आ गई हो।

यहां की संपत्ति दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है क्योंकि यहां हर साल करीब 500 करोड़ का दान-दक्षिणा से चढ़ावा आता रहता है। यह मंदिर द्रविड़ शैली की वास्तुकला में बनाया गया है जो दक्षिण भारत में प्रचलित है। पद्मनाभस्वामी जी के नाम को लेकर बहुत से लोग भ्रमित होंगे तो आपको बता दें कि यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है। आइए जानते हैं भारत के 10 सबसे अमीर मंदिर कौन से हैं।

भारत का सबसे अमीर मंदिर कौन सा है
पद्मनाभस्वामी मंदिर, तिरुवनंतपुरम

भारत के टॉप 10 सबसे अमीर मंदिर

जैसा कि अब आप दुनिया के सबसे अमीर मंदिर के बारे में जान गए होंगे। आइए अब हम आपको उनकी टॉप टेन लिस्ट के बारे में बताते हैं।

  1. पद्मनाभस्वामी मंदिर तिरुवनंतपुरम, केरल आय 500 करोड़ रु से अधिक।
  2. वेंकटेश्वर मंदिर तिरुपति, आंध्र प्रदेश वार्षिक भेंट 600 करोड़ रु से अधिक।
  3. साईंबाबा के मंदिर शिरडी में सालाना 630 करोड़ रु से अधिक।
  4. वैष्णो देवी मंदिर जम्मू-कश्मीर, वार्षिक भेंट 500 करोड़ रु से अधिक।
  5. सिद्धि विनायक मंदिर मुंबई, वार्षिक भेंट 125 करोड़ रु से अधिक।
  6. मीनाक्षी मंदिर मदुरै
  7. जगन्नाथ मंदिर पुरी
  8. काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी
  9. अमरनाथ गुफा, अनंतनाग।
  10. सबरीमाला मंदिर, पेरियार टाइगर रिजर्व।

उपरोक्त सूची में तिरुवनंतपुरम में पद्मनाभस्वामी मंदिर इतना समृद्ध है कि कोई भी मंदिर उसके बगल में खड़ा नहीं हो सकता। इसमें आपको रुपयों के अलावा भारी मात्रा में कीमती हीरे, सोने-चांदी के आभूषण देखने को मिलते हैं। जो कई सालों से इस मंदिर को समृद्ध बना रहे हैं। यह एक बहुत पुराना मंदिर है, जिसका उल्लेख इतिहास में भी मिलता है।

यह भी पढ़े –

Related Posts

error: Content is protected !!