मेन्यू बंद करे

आर्थिक डाटा क्या है | उपयोग व विशेषताएं

आर्थिक डाटा क्या है: आपने अक्सर सुना होगा कि आर्थिक विशेषज्ञ सरकार द्वारा लिए गए किसी भी नीति या आर्थिक निर्णय के सकारात्मक और नकारात्मक पक्षों को सामने लाते हैं। ये सभी निर्णय केवल अनुमान लगाने से नहीं बल्कि ठोस आर्थिक डाटा (Economic data) पर समर्थित होते हैं, जो विभिन्न संसाधनों से प्राप्त सांख्यिकीय आंकड़ों के रूप में होते हैं।

आर्थिक डाटा क्या है | उपयोग व विशेषताएं

आर्थिक डाटा क्या है

आर्थिक डेटा या आर्थिक आँकड़े एक वास्तविक अर्थव्यवस्था, अतीत या वर्तमान का वर्णन करने वाले डेटा हैं। आर्थिक क्षेत्र डेटा के Collection, Presentation, Organization, Analysis और Interpretation से संबंधित है। अर्थशास्त्र के विषय में आँकड़ों का महत्व सर्वविदित है, क्योंकि आर्थिक आंकड़ों का सभी Collection, Processing, Compilation, Dissemination और Analysis सांख्यिकी की सहायता से होता है।

आर्थिक डाटा, आर्थिक आंकड़ों को समझने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जैसे – Quantity and Price, Supply and Demand, Economic Output, GDP, Per Capita Income के बीच संबंध।

एक अर्थव्यवस्था के स्तर पर, राष्ट्रीय लेखांकन की पद्धति के अनुसार कई डेटा को व्यवस्थित और संकलित किया जाता है। इस तरह के डेटा में सकल राष्ट्रीय उत्पाद (Gross National Product) और उसके घटक, सकल राष्ट्रीय व्यय (Gross National Expenditure), राष्ट्रीय आय और उत्पाद खातों में सकल राष्ट्रीय आय, और पूंजीगत स्टॉक और राष्ट्रीय धन भी शामिल हैं।

इन उदाहरणों में डेटा को नाममात्र या वास्तविक मूल्यों में, यानी पैसे या मुद्रास्फीति-समायोजित शर्तों में कहा जा सकता है। अन्य आर्थिक संकेतकों में Output, Orders, Trade, Labor Force, Confidence, Prices, और Financial Chain के विभिन्न वैकल्पिक उपाय शामिल हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अंतरराष्ट्रीय व्यापार, अंतरराष्ट्रीय वित्तीय प्रवाह, प्रत्यक्ष निवेश प्रवाह और विनिमय दरों सहित कई श्रृंखलाएं हैं।

आर्थिक डाटा का उपयोग

आर्थिक डेटा का सबसे आम उपयोग आर्थिक पूर्वानुमान और जोरदार आर्थिक विश्लेषण (Economic Forecasting and Vigorous Economic Analysis) के लिए होता है। इस डेटा का उपयोग उद्योगों द्वारा विस्तार या विकास की योजना बनाने के लिए भी किया जाता है। इस डेटा का उपयोग वित्तीय डेटा को विभिन्न तरीकों से समृद्ध करने के लिए किया जा सकता है, जैसे वित्तीय विश्लेषण।

यह आर्थिक वातावरण, इसकी ताकत और कमजोरियों के साथ-साथ सुधार की संभावना का अध्ययन है। आर्थिक विश्लेषण गहरी अंतर्दृष्टि प्रदान करने के लिए आधुनिक तकनीक और Economic Modeling का उपयोग करता है। आर्थिक विश्लेषण का उपयोग सरकारी एजेंसियों द्वारा आर्थिक नीतियों और आर्थिक कैलेंडर को विकसित करने के लिए किया जाता है।

वित्तीय संस्थान इसका उपयोग प्राकृतिक गैस या शेयर बाजार जैसी वस्तुओं पर प्रभाव का आकलन करने के लिए करते हैं, और कंपनियां इसका उपयोग विकास के अवसर खोजने के लिए करती हैं। आर्थिक विश्लेषण को शक्ति देने के लिए आर्थिक डेटा का उपयोग अन्य वित्तीय डेटा के साथ संयोजन में किया जाता है।

आर्थिक डाटा की विशेषताएं

डेटा की आर्थिक विशेषताएं देश के अनुसार भिन्न होती हैं और इसमें Standard Indicator शामिल होते हैं। इसमें शामिल है:

  • Gross domestic product (GDP)
  • Growth Rate GDP
  • Federal Reserve
  • Gross National Expenditure
  • सरकारी कर्ज़
  • बेरोजगारी की दर
  • देश या क्षेत्र की जनसंख्या
  • Industrial Production
  • अंतर्राष्ट्रीय व्यापार
  • राष्ट्रीय धन
  • व्यापार का संतुलन
  • ब्याज की दर
  • महंगाई का दर
  • Export

यह भी पढे –

Related Posts