Menu Close

अग्निपथ स्कीम क्या है | अग्निवीर योजना आयु सीमा 2022

भारत सरकार ने आर्मी, एयरफोर्स और नेवी भर्ती (Army, Airforce and Navy Recruitment) को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है, जिसमें एक नई योजना Agneepath Agniveer Scheme 2022 लाई गई है। इस योजना के तहत भारतीय युवाओं को सेना में सेवा करने का अवसर प्रदान किया जाएगा। सरकार का कहना है कि यह योजना देश के युवाओं को सेना में अवसर देने और सेना को पहले से ज्यादा आधुनिक बनाने का काम करेगी। आइए जानते है की अग्निपथ स्कीम क्या है और अग्निवीर योजना में युवाओं की आयु सीमा कितनी होनी चाहिए और अग्निवीरों को कितनी सैलरी और अन्य लाभ मिलेंगे।

अग्निपथ स्कीम क्या है

अग्निपथ स्कीम क्या है

अग्निपथ भर्ती स्कीम भारत सरकार की एक नई योजना है, जिसमें युवा केवल चार साल तक सेना का हिस्सा रहेंगे। वह चार साल बाद सेवानिवृत्त होंगे। चार साल की सेवा के बाद सेवानिवृत्त होने वाले 25 प्रतिशत युवाओं को फिटनेस के आधार पर दोबारा सेवा का मौका दिया जाएगा। अब थल सेना, वायुसेना और नौसेना में युवाओं की भर्ती चार साल के लिए होगी। चार साल में छह महीने की ट्रेनिंग होगी और उसके बाद साढ़े तीन साल तक युवा नौकरी कर सकेंगे। सेवानिवृत्ति पर इन युवाओं को डिग्री और प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। आसान शब्दों में कहें तो ‘अग्निपथ’ योजना के तहत युवाओं को चार साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा।

अग्निपथ योजना आर्मी आयु सीमा (Agneepath Yojna Army Age Limit)

अग्निपथ योजना में भर्ती के लिए युवा की आयु सीमा 17 वर्ष 6 माह से 21 वर्ष के बीच तथा इस योजना में सेवानिवृत्त होने वाले युवा की आयु 21-25 वर्ष होगी। हालांकि, पहले भर्ती के लिए समय सीमा 21 से बढ़ाकर 23 कर दी है। ‘अग्निपथ’ योजना में कार्यरत युवाओं को ‘अग्निवीर’ (Agniveer) के नाम से जाना जाएगा।

सैलरी

सैलरी की बात करें तो पहले साल 30 हजार सैलरी मिलेगी, लेकिन 21,000 हाथ में आएंगे। दूसरे वर्ष 33 हजार के वेतन पर 23,100 हाथ में आएंगे। तीसरे वर्ष 36,500 के वेतन पर 25,550 हाथ में आएंगे। चौथे वर्ष 40 हजार के वेतन पर 28,000 हाथ में आएंगे। अग्निवीरों को ग्रेच्युटी और पेंशन की सुविधा नहीं दी जाएगी।

वेतन लाभ नियमित सेना के बराबर होगा और अग्निवीरों को 48 लाख का बीमा कवर भी मिलेगा। वेतन के साथ-साथ कुछ भत्ते भी मिलेंगे जिनमें रिस्‍क एंड हार्डशिप, राशन, पोशाक और यात्रा भत्ता शामिल होगा। सेवा के दौरान विकलांग होने पर गैर-सेवा अवधि के लिए पूरा वेतन और ब्याज भी मिलेगा। ‘सर्विस फंड’ को आयकर से छूट दी जाएगी। ध्यान दें कि अग्निवीर ग्रेच्युटी और पेंशन लाभ के लिए पात्र नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें-

Related Posts

error: Content is protected !!